Breaking News :

JYOTISH: करें अगर यह उपाय तो बदल जाएगी जिंदगी की राह

हरिद्वार में बदमाशों ने हथियारों के साथ बोला हमला, चार हमलावरों को घेरा

फ्री गिफ्ट का झांसा देकर लाखों की ऑनलाइन ठगी में माहिर विदेशी गिरफ्तार

“राष्ट्रपति का पुलिस पदक” एवं सराहनीय सेवाओं के लिए “पुलिस पदक” से सम्मानित किये जाने की घोषणा

उपेक्षा का आरोप: फोरम ऑफ बैंक यूनियन के बैनर तले विशाल प्रदर्शन

पटवारी परीक्षा लीक प्रकरण: चतुर्वेदी का कस्टडी रिमांड रहा सफल, धीरे-धीरे खुल रही परतें

कहीं फर्जी तो नहीं आपका आधार कार्ड! एक और फर्जी आधार सेंटर का भंडाफोड़

कहता है राशिफल , आज बनेंगे इन राशियों के बिगड़े काम

परेड मैदान में उठाएं गणतंत्र दिवस का आनंद, रूट प्लान जारी

पुलिस ने सत्य साबित की चेतावनी! यू-ट्यूब ब्लॉगर के खिलाफ मुकदमा / हुई गिरफ्तारी

January 27, 2023

“गोल्डन जन्नत” में मिला उत्तराखंड एसटीएफ का वांछित इनामी बदमाश

एसटीएफ की गैंगस्टर/इनामी अपराधियों पर ताबड़तोड़ कार्यवाही जारी
सरकारी नौकरी लगाने का लालच देकर लाखों रूपये की ठगी करके 05 साल से गायब 25 हजार रूपये के ईनामी अपराधी पूर्व ग्राम प्रधान कुंजा बहादुरपुर हरिद्वार को एसटीएफ ने चण्डीगढ़ से किया गिरप्तार
पिछले पांच सालों से अपना नाम पता वेष बदलकर होटल में छिप कर रह रहा था, शातिर ठग। हर बार अपना ठिकाना बदलकर हो जाता था, गायब
जनपद हरिद्वार में कई लोगों से लाखों रूपये की ठगी करके हो गया था चंपत
विगत 15 दिवस में एसटीएफ टीम ने किये 07 कुख्यात ईनामी अपराधी गिरप्तार

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा ईनामी अपराधियों के खिलाफ चलायी जा रही मुहिम का ही परिणाम है कि आज एसटीएफ टीम द्वारा एक ऐसे शातिर ठग को चण्डीगढ़ जाकर गिरप्तार करने में कामयाबी प्राप्त की है जो पिछले 05 सालों से पुलिस को छकाता रहा है।
इसकी गिरप्तारी हेतु प्रारम्भ में 05 हजार रूपये की घोषणा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा की गयी थी, परन्तु यह ठग इतना शातिर था कि पुलिस से बचने के हर हथकण्डे अपनाता रहता था, जिसके कारण अभी तक पुलिस की गिरप्त में नहीं आ सका था, जिस कारण से पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा इस अभियुक्त की गिरप्तारी हेतु 25 हजार रूपये के इनाम की घोषणा की गयी थी।

इस बार इसकी गिरप्तारी हेतु ठोस कार्ययोजना बनायी गयी और एसटीएफ के बिछाये जाल में फंस गया। गौरतलब है कि अभियुक्त अमर सिंह ग्राम कुंजा बहादुरपुर हरिद्वार का पूर्व ग्राम प्रधान था और अपनी ग्राम प्रधानी के दौरान ही उसके द्वारा अपने प्रभुत्व का इस्तेमाल कर कई लोगों को इस झांसे में ले लिया था कि वह उनकी नौकरी राजकीय इंटर कॉलेज में क्लर्क के पद पर अथवा बीएचईएल हरिद्वार में लगा सकता है।
इस व्यक्ति द्वारा नौकरी लगाने का झांसा देकर कई लोगों से लाखों रुपए प्राप्त करके एक दिन अचानक जनपद हरिद्वार से गायब हो गया और अपने पूरे परिवार से संपर्क भी खत्म कर लिया । जिस पर कोतवाली रूड़की में अमरसिंह के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा वर्ष 2018 में दर्ज किया गया था। तब से अभियुक्त लगातार फरार चल रहा था।

पुलिस अधीक्षक एसटीएफ चंद्र मोहन सिंह द्वारा बताया गया की हमारी एस. टी.एफ. की एक टीम कोतवाली रूड़की से वर्ष 2018 से घोखाधड़ी के एक मामले में वाछित शातिर अमर सिंह को पकड़ने के लिये पिछले काफी प्रयास कर रही थी, परन्तु वह काफी प्रयास के बाद भी अब तक गिरप्तार नहीं हो सका था, क्योंकि वो हर माह में अपना नया ठिकाना बदल लेता था। इस अभियुक्त की गिरप्तारी हेतु पुलिस उप महानिरीक्षक हरिद्वार द्वारा 25 हजार रूपये की ईनाम की घोषणा की गयी थी।

एसटीएफ की टीम द्वारा इस शातिर अपराधी की दिनांकः05.12.2022 को चण्डीगढ़ के एक होटल “गोल्डन जन्नत” में दविश देकर गिरप्तारी की गयी है।* अमर सिंह होटल में अपना वेश बदलकर रखता था,ताकि कोई उसे पहचान न सके,और हर महीने राजस्थान के नागौर जिले में स्थित ओशो ध्यान सेंटर में जाया करता था।

*गिरफ्तार अपराधी का नाम*
अमर सिंह पुत्र सुखवीर सिंह निवासी- कुंजा बहादुरपुर, भगवानपुर, हरिद्वार

ईनाम राशि—- 25000 का इनामी गैंगस्टर

पुलिस टीम का विवरण–
1.उ0नि0 विपिन बहुगुणा
2.उ0नि0 नरोत्तम विष्ट
3.कां0 प्रमोद
4.कां0 देवेन्द्र मंमगाई
5.कां0 रवि पन्त
6.कां0 दीपक चन्दोला

Vinkmag ad

Lalit Uniyal

Read Previous

अपने ही पैसे मांगने पर उतार दिया मौत के घाट

Read Next

आज का राशिफल और इन राशियों पर रहेगी पवन पुत्र की कृप