सिर्फ राजनीति नहीं, राह दिखाने की भी जिम्मेदारी

युवाओं में साइबर क्राइम व नशे के खिलाफ महा- अभियान शुरू
विज्ञान व तकनीकी के दुष्प्रभाव के प्रति युवाओं को जागरूक करना हमारी जिम्मेदारी: धस्माना


Dehradun: कोरोना काल में ONLINE पढ़ाई के कारण प्राइमरी से सेकेंडरी व उच्च शिक्षा तक बच्चों व युवाओं में मोबाइल का इस्तेमाल बेइंतहा होने के कारण उसके दुष्परिणाम व साइबर अपराध से जुड़े तमाम मामले देश भर में बढ़ गए हैं। पोर्नोग्राफी, ठगी व नशे से जुड़े अपराध युवाओं अल्पव्याकों में अत्याधिम बढ़ गए हैं इसलिए उत्तराखंड में विद्यार्थियों व युवाओं के बीच साइबर क्राइम व नशे के खिलाफ हमने एक जागरूकता का महाभियान प्रारंभ करने का निश्चय किया जिसका आज शुभारंभ किया जा रहा है.
यह बात आज बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष व देवभूमि मानव संसाधन विकास ट्रस्ट के अध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने गोविंदगढ़ स्थित स्नेहा दून अकैडमी में देवभूमि मानव संसाधन विकास ट्रस्ट व हयुमन्स ऑफ डिजिटल मार्केटिंग के संयुक्त संयोजकत्व में 200 विद्यार्थियों की वर्कशाप का उदघाटन करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि देश और दुनिया में विज्ञान एवं प्रधोगिकी व सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में क्रांतिकारी विकास हुए लेकिन साथ ही उसमें कुछ दुष्परिणाम भी देखने को मिल रहे हैं जिसके खिलाफ लोगों को और विशेष रूप से युवा व विद्यार्थियों में जागरूकता आवश्यक है और ये जिम्मेदारी नेतृत्वकारी लोगों की है।
हयुमन्स ऑफ डिजिटल मार्केटिंग के प्रशांत कापड़ी व महेश गौड़ ने छात्र छात्राओं से वार्तालाप कर उनको पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से साइबर क्राइम की बारीकियां समझाई व मोबाइल कम्प्यूटर व नेट इस्तेमाल करते हुए क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए उसके बारे में विस्तार से चर्चा की।
इससे पूर्व श्री धस्माना ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में स्कूल की डायरेक्टर डॉक्टर रीता राव, श्री अमित खन्ना श्री हरि राव व श्रीमाती गौरी उपस्थित रहे।