जानिए कैसे बना विनोद पवार उत्तराखंड पुलिस का असली “जांबाज “ – Bhilangana Express

जानिए कैसे बना विनोद पवार उत्तराखंड पुलिस का असली “जांबाज “

उफनती नदी में कूदी 2 महिलाओं को अपनी जान पर खेलकर बचाया
आपस में हाथ बांधकर नदी में कूदने का किया दुस्साहस महिलाओं ने

Karnprayag: उत्तराखंड पुलिस में असली जांबाज वक्त आने पर अपनी काबिलियत और साहस से सब को हतप्रभ कर देते हैं। कर्णप्रयाग पुलिस के विनोद सिंह पवार ऐसे ही एक रियल हीरो है जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर दो महिलाओं को उफनती हुई नदी से बचा लिया।

आज दिन में कर्णप्रयाग स्थित पिंडर नदी में दो महिलाएं काफी देर तक नदी के किनारे बैठी रही और फिर देखते ही देखते दोनों नदी में कूद गई। इसी दौरान उत्तराखंड पुलिस के जवान विनोद पवार ने उन्हें कूदते हुए देख लिया और वह तुरंत अपनी जान की परवाह न करते हुए नदी में कूद गए। एक साथ दो महिलाओं को उफनती नदी से बचाना कोई आसान काम नहीं था, लेकिन विनोद सिंह पवार ने इस जटिल कार्य को अपने साहस से कर दिखाया और दोनों महिलाओं को सकुशल बाहर निकाल लिया।

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि इन दोनों महिलाओं को आज आपस में हाथ बांधकर मुख्य सड़क से पिंडर नदी की ओर जाते हुए देखा गया था। हालांकि स्थानीय लोग उनके इरादे नहीं भाग पाए लेकिन जब दोनों नदी किनारे बैठ गई तो लोगों ने उन्हें ऊपर आने के लिए कहा लेकिन महिलाएं उनकी बातों को अनसुना करती रही। कांस्टेबल विनोद सिंह पवार को शक हुआ तो वे नदी के घाट की ओर उतर गए। इसी दौरान दोनों महिलाएं नदी में कूद गई लेकिन विनोद सिंह पवार ने भी तत्परता दिखाते हुए दोनों महिलाओं को नदी में ही पकड़ लिया और खींच कर बाहर ले आए। पुलिस महिलाओं से पूछताछ कर रही है तो उधर विनोद सिंह पवार की बहादुरी की पूरे क्षेत्र में सराहना की जा रही है।