पहचान छुपाता रहा पर मौत से नहीं बच पाया – Bhilangana Express

पहचान छुपाता रहा पर मौत से नहीं बच पाया

उत्तराखंड में हत्या कर गुजरात में छिपा था आरोपी
हत्या के बाद सीवर टैंक में फेंका था शव

KHATIMA: जिला उधमसिंह नगर के खटीमा क्षेत्र में सूरज हत्याकांड के मुख्य आरोपी ललिता ज्याला ने गुजरात में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। धोखाधड़ी के आरोप में न्यायालय में उपस्थित नहीं होने पर कोर्ट ने उससे खिलाफ वारंट जारी किए थे। करीब चार माह से पुलिस उसे तलाश रही थी। इस बीच खबर आई कि उसने आत्महत्या कर ली है। उसके पास से दो आइडी मिली। माना जा रहा है कि वह पहचान छिपाकर रह रहा था।

तीन जुलाई 2016 को खटीमा में चंपावत जिले के बनबसा के प्रॉपर्टी डीलर सूरज चंद की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। हत्या करने के बाद शव एक आरोपित के घर के आंगन में बने सीवर टैंक में डाल दिया गया था। इस मामले में पांच दिन बाद नौगवांनाथ खटीमा निवासी मुख्य सूत्रधार प्रॉपर्टी डीलर ललित ज्याला व उसके साथी ईश्वरी, पप्पू राणा व सुरेश राणा का नाम आया। इसके अलावा ज्याला की बहन, भांजे व एक अन्य आरोपित को पुलिस ने षडयंत्र में शामिल होने पर जेल भेजा था। वर्तमान में सभी आरोपित जमानत पर हैं.

गुजरात पुलिस ने खटीमा पुलिस को सूचना दी कि उनके क्षेत्र में एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली जिसके पास से राजीव सिंह पुत्र जमन सिंह की फोटो आइडी और ललित ज्याला के पासपोर्ट आइडी की कॉपी मिली है। गुजरात से भेजी गई फोटो व आइडी से ललित ज्याला के घर तस्दीक के लिए चौकी प्रभारी धीरज वर्मा पहुंचे। इसके साथ ही उसकी तलाकशुदा पत्नी मुन्नी देवी से भी पूछताछ की। उसने पेट में अपेंडिक्स के ऑपरेशन के निशान और फोटो के आधार पर पुष्टि की।
कोतवाल खटीमा नरेश चौहान ने बताया कि फरार ललित ज्याला के शव के पास से राजीव के नाम से मिली दूसरी आइडी उसके मृतक भाई की है। वहां नाम बदल कर किराए के मकान में रह रहा था। पत्नी ने ललित ज्याला होने की पुष्टि की है। जांच के लिए खटीमा पुलिस की एक टीम गुजरात भेजी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *