झारखंड तथा पश्चिम बंगाल से साईबर ठगी करने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार – Bhilangana Express

झारखंड तथा पश्चिम बंगाल से साईबर ठगी करने वाले दो अभियुक्त गिरफ्तार

झारखंड तथा पश्चिम बंगाल से साईबर ठगी करने वाले गैंग के दो शातिर अभियुक्त गिरफ्तार , अभि0गणो के पास पाये गये विभिन्न बैको के 190 बैक अकाउन्ट, कई करोडो रुपये का लेनदेन

Haridwar: वादी पवन कुमार पंजियारा पुत्र बसंत पंजियारा निवासी ग्राम पो0- मकवा थाना असरगंज जिला- मुगेर (बिहार) ने अपने बचत खाता HDFC शाखा- भगवानपुर खाता सं0- 50100370985080 से अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर (180041225027) कि आपका कोरियर है जिस के लिए आपकी रु0 5 भेजना पडेगा तथा वादी से ATM डिटेल लिया और OTP आया व उनका दूसरे नं0 8249086784 से फोन आया और मेरे से OTP मांगने लगे पर मेने नही दिया परन्तु तुरन्त मेरे खाते से एक-एक लाख करके दो लाख कट गये फिर मै उस नं0 फोन लगया तो फोन नं0 बन्द आ रहा.

घटना के अनावरण हेतु थाना भगवानपुर पुलिस की अलग अलग टीमे गठित की गयी। टीमों द्वारा
1.रमजान अली पुत्र मोमीनूर रहमान निवासी ग्राम पूर्वी दुल्लोपुर थाना ईटाहार जिला उत्तर दिनाजपुर पश्चिम बंगाल हाल निवासी हाउस न0 01 चन्द्रलोक नियर बिहारी मार्केट सैक्टर 28 चकरपुर गुरूग्राम हरियाणा उम्र 25 वर्ष

2.संजय मंडल पुत्र धुलापद मंडल निवासी ग्राम व पोस्ट पूर्वा श्रीधर पुर थाना रामदिघी जिला 24 परगना दक्षिण पश्चिम बंगाल हाल निवासी एस0एस0टावर कमरा न0 326 निकट महावीर स्टोर चकरपुर थाना सैक्टर 29 गुरूग्राम हरियाणा उम्र 36 वर्ष को 03 ATM कार्ड 1.कोटकमहिन्द्रा बैंक न0 4594530081696445 2.TMBबैंक न04712420302159265 3.इडंसलैड बैंक न0(4216812112141387) व 310 रू नकद के साथ कलियर क्षेत्र में पार्किग ग्राउण्ड से गिरफ्तार किया।

पूछताछ करने पर अभि0गणो ने सामुहिक रुप से बताया कि हमारा गैंग को आपरेट करने वाला व्यक्ति का नाम अकबर है जो अभी आसनसोल पश्चिम बंगाल में रहता है। हम दोनो गरीब एवं अनपढ लोगो को पैसे का लालच देकर उनसे बैंक में खाते खुलवाते है बदले में उन्हे 3000- रुपये प्रति खाता देते है फिर हम उन लोगो से बैक की पासबुक,एटीएम एवं चैकबुक ले लेते है और पूरी किट अकबर को देते है बदले में अकबर हमे 4000/ रुपये प्रति किट देता था। और जब खातो में लेनदेन होता है तब हमे अकबर समय समय पर पैसे भेजता है । अकबर हमे व्यक्तिगत अकाउन्ट में भी पैसा ट्रासफर करता है। हमारे द्वारा लगभग 200 लोगो के अकाउन्ट खुलवाये गये जिसमें कई करोडो रुपये का लेनदेन हुआ है। अभी उन खातो में कितना रुपये बचा है इसकी जानकारी नही है इसकी जानकारी अकबर ही बता सकता है।श्रीमान पुलिस उपमहानिरीक्षक/ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा पूरे गैग को ट्रैसआउट कर सभी बैक अकाउन्ट को फ्रिज करने के निर्देष दिये गये।